Articles

क्या प्रेग्नेंसी में पीरियड्स होते है? - Winning Tactics For PREGNANCY ME PERIODS

by Lucky Jack Content handler and blogger
प्रत्येक महिलाओं को मां बनने की चाह होती है ऐसे में जब वह पहली बार गर्भधारण करती है तो उन्हें अपार खुशी होती है। ऐसे में उनके मन में यह सवाल भी उमड़ता है कि क्या प्रेग्नेंसी में पीरियड्स होते है Kya Pregnancy Me Periods Hote Hai In Hindi. आज हम आपको इस लेख के माध्यम से आपके मन में उमड़ रहे इस प्रश्न का जबाव देगे। आपको बता दे कि महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान पीरियड्स नहीं होता है औऱ यह पीरियड्स होना भी नहीं चाहिए। क्योंकि गर्भधारण के बाद से भ्रूण में शिशु के विकास के लिए रक्त की आवश्यकता होती है। हालांकि महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान कभी-कभी रक्त स्त्राव होने लगता है लेकिन यह पीरियड्स नहीं हो सकता है। अगर आपके योनि से लगातार रक्त स्त्राव हो रहा है तो यह खतरे की निशानी हो सकती है आप इसके लिए अपने डॉक्टर से अतिशीघ्र संपर्क करें। प्रेग्नेंसी के दौरान रक्त स्त्राव होने के कुछ निम्नलिखित कारक हो सकते है:


प्रेग्नेंसी के पहले माह में ब्लीडिंग- जब महिला गर्भवती होती है और गर्भाधाऱण के पहले माह में ब्लीड़िग होने की प्रक्रिया को इम्प्लांटेशन ब्लीडिंग कहते है। इस प्रक्रिया में फर्टिलाइज अंडा प्रेग्नेंट महिला के गर्भ में प्रत्यारोपित होता है तो इस कारण महिला को प्रेग्नेंसी के दौरान पहले माह में इंप्लाटेंशन ब्लीडिंग होती है। लेकिन इस मामले में भी अधिक रक्त स्त्राव नहीं होता है। अगर आपको ऐसी कोई समस्या हो तो आप अपने डॉक्टर से इस बारें में संपर्क करें।


पहली तिमाही में ब्लीडिंग- जब महिला गर्भधारण के पहली तिमाही में पहुंचती है तो नाल का गर्भाशय में प्रत्योरोपित होने के कारण महिलाओं में ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है। ऐसी स्थिति में महिलाओं को घबराने की जरुरत नहीं होती है। महिलाओं में पीरियड्स तभी तक होता है जब तक वह गर्भवती नहीं होती है क्योंकि गर्भाशय में अंडे के आरोपण के लिए रक्त के लिए एक मोटा अस्तर बनता है अगर महिला उस महीने में गर्भवती नहीं होती है तो ये अस्तर रक्त के रुप में योनि के माध्यम से बाहर निकल जाता है जो पीरियड्स कहलाता है।

अगर किसी गर्भवती महिला को लगातार रक्त स्त्राव की स्थिती बनी रहती है तो यह किसी गंभीर खतरे की निशानी हो सकती है कई बार गर्भपात, संक्रमण और प्लेसेंटा संबंधी समस्या होने पर भी यह स्थिति उत्पन्न हो जाती है जो सही नहीं होता है। लगातार अगर आपको ब्लीडिंग  की समस्या उत्पन्न होती रहे तो आप इस बारें में अपने डॉक्टर से परामर्श जरुर लें चाहे कुछ समय बाद वह ब्लीडिंग रुक ही क्यों नहीं जाए। आप प्रेग्नेंसी के दौरान निम्न उपायों को अपनाकर आप होने वाले रक्त स्त्राव से बच सकते हैं-

1. जब आप गर्भावस्था में हो और रक्त स्त्राव होने लगे तो ऐसे में आप खूब पानी पिएं जिससे शरीर में पानी की कमी नहीं होने पाएं।
2. गर्भावस्था के दौरान सेक्स करने से बचें जिससे आप ब्लीडिंग की समस्या नहीं होगी।
3. गर्भावस्था के समय में भारी वस्तुओं को नहीं उठाए।
4. डिलेवरी के बाद 3 महीनों तक पीरियड्स नहीं आने पर घबराएं नहीं, अगर 5-6 महीनों से अधिक समय होने के बाद भी पीरियड्स शुरु नहीं हो तो आप अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

To know more, click below links:
period miss hone par kya kare


Sponsor Ads


About Lucky Jack Innovator   Content handler and blogger

17 connections, 0 recommendations, 62 honor points.
Joined APSense since, April 27th, 2019, From Noida, India.

Created on Apr 29th 2019 02:48. Viewed 630 times.

Comments

No comment, be the first to comment.
Please sign in before you comment.