Articles

बिजनेस के लिए सरकारी लोन कैसे मिलता है

by Sheena Sharma Financial Advisor to help you find the best soluti

केंद्र सरकार का प्रयास है कि देश में स्वरोजगार की संख्या बढ़े। जिससे कि अधिक से अधिक लोग आर्थिक रुप से सक्षम बन सके। इसके सरकार द्वारा समय  समय पर सरकारी योजनाओं का संचालन किया जाता है। सीजीटीएमएस योजना और मुद्रा लोन योजना, ऐसी ही योजना है, जिसमे बिजनेस करने के लिए सरकारी लोन मिलता है। सीजीटीएमएस योजना के तहत 1 करोड़ रुपये तक का लोन मिलता है। वहीं मुद्रा लोन योजना के तहत 10 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन मिलता है। 


सीजीटीएमएसई योजना के तहत लोन 


क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट नामक एक ट्रस्ट द्वारा संचालित क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्‍ट फॉर माइक्रो एण्‍ड स्‍मॉल इंटरप्राइजेज (CGTMSE) योजना के तहत प्रॉपर्टी गिरवी रखे बिना या तीसरे पक्ष की गारंटी के बिना बैंक लोन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाती है। इससे युवा कारोबारियो को खुद का बिजनेस शुरु करने में और बिजनेस का विस्तार करने मे असानी होती है। 


इस योजना के तहत क्रेडिट सुविधा योजना के तहत योग्य पात्र क्रेडिट सुविधाएंटर्म लोन और/या 1 करोड़ रुपए तक की वर्किंग कैपिटल सुविधादोनों को ही प्रदान करती है जिसे बिना कुछ गिरवी रखे मिलता है। जिससे बिजनेस का विस्तार किया जाता है। योजना के तहत थर्ड पार्टी गारंटी के ऐसा किया जा सकता है ताकि नए या पहले से मौजूद उद्यम को आगे बढ़ाया जा सके। गारंटी स्कीमों के तहत कवर की गई इकाइयों के लिए के लिए वरदान है। 


पात्रता 


सीजीटीएमएस स्कीम में कोई भी बिजनेस जो नया है या पहले से चला रहा है वह सभी प्राइम मिनिस्टर क्रेडिट गारंटी स्कीम - CGTMSE स्कीम का लाभ प्राप्त करने की योग्यताCgtmse Scheme Eligibility रखते हैं। 


मुद्रा लोन योजना से सरकारी लोन 


पीएम मुद्रा लोन योजना के तहत तीन कैटेगरी में 10 लाख रुपये तक का बिजनेस लोन, बिना कुछ गिरवी रखे, मिलता है। मुद्रा लोन की तीन कैटेगरी निम्नलिखित हैः 


  • शिशु लोन – 50 हजर तक का लोन मिलता है।  

  • किशोर लोन  - 50 हजर से 5 लाख तक का लोन मिलता है 

  • तरुण लोन – 5 लाख से 10 लाख तक का लोन मिलता है 


्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत 27 सरकारी बैंक17 प्राइवेट बैंक31 ग्रामीण बैंक4 सहकारी बैंक और 25 नॉन बैंकिग फाइनेंशियल कंपनी (एनबीएफसी) से मुद्रा लोन – एमएसएमई लोन मिलता है। अगर बात मुद्रा लोन की ब्याज दर की करें तो यह सभी फाइनेंशियल संस्थाओं मे अलग-अलग हो सकती हैं अलग  - अलग बैंक मुद्रा लोन के लिए अलग ब्याज दर वसूल करते हैं. मुद्रा लोन लेने वालों के कारोबार की प्रकृति और उससे जुड़े जोखिम के आधार पर भी ब्याज दर निर्भर करती है. आम तौर पर न्यूनतम ब्याज दर 12 फीसदी होती है 


Sponsor Ads


About Sheena Sharma Advanced   Financial Advisor to help you find the best soluti

59 connections, 1 recommendations, 203 honor points.
Joined APSense since, October 16th, 2019, From New Delhi, India.

Created on Mar 31st 2021 10:20. Viewed 314 times.

Comments

No comment, be the first to comment.
Please sign in before you comment.